संवाददाता: सिद्धार्थ कुंवर, नमस्कार भारत

आज श्री राम कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवसीय विशेष शिविर का शुभारंभ विकास खंड कार्यालय ब्लॉक कुकड़ा, मुजफ्फरनगर में आहवान गीत एवं लक्ष्य गीत के माध्यम से किया गया।

शिविर में लगभग 50 स्वयंसेवक एवं स्वयंसेविकाओं ने प्रतिभाग कर विभिन्न  सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। जिसमें अभिषेक पाल सुशांत कमरे अपराजिता और राधिका गभेनी आहवान गीत वहीं रोहित अनुराग शर्मा हिमालय और अक्षय ने भी देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया।

इसके पश्चात स्वयंसेवको ने लगभग 5 घंटे कुकड़ा ब्लॉक के प्रांगण में साफ सफाई कर श्रमदान किया।

इस अवसर पर शिविर में उपस्थित आज की मुख्य अतिथि संदीप यूनिसेफ ब्लॉक कोऑर्डिनेटर ने स्वयंसेवकों को टीकाकरण के प्रति जागरुक करते हुए बताया कि टीकाकरण महीने में आठ बार यानी सप्ताह मे दो बार बुधवार एवं शनिवार में किया जाता है जिसमें खसरा का टीका नवे महीने में और बूस्टर डोज 1 वर्ष 6 माह में लगाई जाती है जो नवजात शिशु के लिए अति आवश्यक होती है इसी के साथ उन्होंने यह भी बताया कि 2014 में पोलियो का टीका सरकार द्वारा घर-घर जाकर बंद कर दिया गया था क्योंकि उस सत्र में पोलियो के मरीजों की संख्या लगभग समाप्त हो गई थी।

वहीं उन्होंने यह भी बताया कि नवजात शिशु को 24 घंटे के अंदर बीसीजी टीवी के टीका भी लगाया जाता है।

इस अवसर पर शिविर में उपस्थित बायोसाइंस विभाग प्रवक्ता विकास त्यागी ने बताया की टीकाकरण नवजात शिशु के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि यह किसी बीमारी की पूर्व अवस्था होती है साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि आज के समय में बढ़ती गंदगी के कारण बीमारियां बच्चों में जन्म लेती है। इन बीमारियों से बचाव संबंधी सावधानियों के बारे में लोगो में जागरूकता फैलानी चाहिये।

इसके पश्चात शिविर में उपस्थित कार्यक्रम अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना अंकित कुमार ने बताया कि यूनिसेफ का यह एक अच्छा प्रयास है कि वह गांव में जाकर टीकाकरण के प्रति जागरुक करते हैं हम अपने स्वयंसेवकों को भी यही शिक्षा देने का कार्य कर रहे हैं कि वह भी गांव-गांव में जाकर लोगों को टीकाकरण के साथ गंदगी से पनपने वाली बीमारियों के प्रति जागरूक करें इसी के साथ मैं स्वयंसेवको से आशा करता हूं कि वह अपने घर परिवार तथा आसपास में भी टीकाकरण की जानकारी वितरित करेगें ।

इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित स्वयंसेवक शुभम कश्यप, अनुराग शर्मा, रोहित कुमार, शना, अपराजिता, शंकर, अमन इत्यादि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *