संवाददाता: राहुल चौधरी , नमस्कार भारत

बिहार के काराकाट लोकसभा सीट पर मतदान के दिन करीब आते ही मुकाबल दिलचस्प होने की उम्मीद है। भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह ने इस सीट से निर्दलीय चुनावी ताल ठोक कर एनडीए गठबंधन प्रत्याशी उपेंद्र कुशवाहा के लिए चुनौती बने हुए हैं।

महागठबंधन की तरफ़ से राजा राम मैदान चुनावी ताल ठोक चुके हैं। वहीं ओवैसी की पार्टी AIMIM ने काराकाट लोकसभा सीट से प्रियंका चौधरी को टिकट दिया है। वहीं भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां प्रतिमा देवी ने भी काराकाट से चुनावी मैदान में उतरने के लिए नामांकन दाखिल किया था,  लेकिन किसी वजह से उन्होंने अब नाम वापस ले लिया है। सियासी गलियारों में बेटे के सामने मां के नामांकन पर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही थीं। आखिर ऐसी क्या मजबूरी हो गई कि मां ने बेटे के सामने ही चुनावी ताल ठोकी दी। क्या बेटे के लिए मां ही चुनौती बनेंगी। बहरहाल नाम वापिस लेते ही सारी अटकलों पर विराम लग गया है।

पवन सिंह की मां प्रतिमा देवी ने नामांकन किसी और वजह से दाखिल किया था। दरअसल उन्हें (प्रतिमा देवी) को यह डर सताने लगा था कि कहीं उनके बेटे (भोजपुरी अभिनेता, पवन सिंह) का नामांकन रद्द ना हो जाए। इसलिए बैकअप प्लान के तौर पर मां ने निर्दलीय पर्चा दाखिल कर दिया । मंगलवार को नामांकन के आखिरी दिन काराकाट लोकसभा सीट से भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां प्रतिमा देवी ने बतौर निर्दलीय प्रत्याशी नामांकन दाखिल किया था। वह बिना किसी प्रचार-प्रसार के चुपचाप अपने प्रस्तावक के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची और पर्चा भर दिया था।

पहले से ही यह चर्चा थी कि कि अगर पवन सिंह का नामांकन रद्द नहीं हुआ तो फिर प्रतिमा देवी अपना नाम वापिस ले लेंगी। अगर बेटे का नामांकन रद्द हुआ तो फिर पवन सिंह मां को चुनावी मैदान में उतारते हुए सियासी दांव खेलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *