संवाददाता: रवि गौतम, नमस्कार भारत

               श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज, मुजफ्फरनगर के कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजी0 विभाग द्वारा ‘मशीन लर्निंग एण्ड आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस-इनोवेट इंटेलिजेंस’ विषय पर 21 फरवरी से 23 फरवरी 2024 तक तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया । तीन दिनों तक चलने वाली इस कार्यशाला का शुभारंभ श्रीराम ग्रुप आफ कॉलेजेज, मुजफ्फरनगर के चेयरमैन डॉ0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया।

               इस अवसर पर संस्था के निदेशक डॉ. एस.एन. चौहान और कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजी0 के विभागाध्यक्ष आशीष चौहान ने मुख्य अतिथियों को पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया।

               कार्यशाला के प्रथम दिवस ड्यूकेट आई0टी0 ट्रेनिंग स्कूल, नोएडा से ट्रेनर रोहित पाहावा एवं मार्केटिंग मैनेजर अक्षित कुमार मुख्य अतिथि एवं वक्ता रहे।

               इस अवसर पर कार्यशाला के मुख्य वक्ता रोहित पाहावा ने मशीन लर्निंग के प्रयोग पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इसका प्रयोग बैंकिंग सैक्टर, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, वेब डेवलपमेंट, ईमेल फिल्टर, चैट बोट आदि में किया जाता है। मशीन लर्निंग कृत्रिम बुद्धिमत्ता का एक उप-डोमेन है जो ऐसे सिस्टम विकसित करने पर ध्यान केंद्र्रित करता है जो ग्रहण किये गये डाटा के आधार पर हम सीखते हैं या प्रदर्शन में सुधार करते हैं। उन्होने यह भी कहा कि मशीन लर्निंग प्रोग्रामिंग से अलग है जहां एक कम्प्यूटर किसी कार्य को करने के लिये निर्देशों का एक सैट का पालन करता है वहीं मशीन लर्निंग में कम्प्यूटर स्वयं ही पुराने डाटा के आधार पर निर्णय ले लेता है। उन्होंने छात्रों को बताया कि मशीन लर्निंग कम्प्यूटर साइंस का क्षेत्र है जो कम्प्यूटर सिस्टम को स्वयं सीखने की क्षमता प्रदान करता है। दूसरे शब्दों को कहें तो मशीन लर्निंग तकनीक काफी तेजी से विकसित हो रही है जो कि आने वाले समय में डिजिटल जीवन को और भी आसान बना सकती है। इसके साथ ही मुख्य वक्ता रोहित पाहावा ने डाटा एनेलिटिक्स पर भी सेशन लिया और प्रकाश डालते हुए बताया कि डाटा एनेलिटिक्स रुझानों को खोजने और सवालों के जवाब देने के लिये कच्चे डाटा का विश्लेषण करने के लिये टूल और प्रक्रियाओं का उपयोग करने की प्रक्रिया है।

               इस अवसर पर श्रीराम ग्रुप आफ कालिजेज के चेयरमैन डॉ0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ ने कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजी0 विभाग की सराहना करते हुए कहा कि विभाग द्वारा आयोजित इस प्रकार की कार्यशालाओं से छात्रों का उत्साह बढ़ता है साथ ही छात्रों को नई व अद्यतन तकनीक का ज्ञान भी होता है जिससे उन्हें भविष्य में प्लेसमेंट में सहायता मिलती है।

               इस अवसर पर संस्थान के निदेशक डॉ0 एस0एन0 चौहान ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रकार की कार्यशालाओं का आयोजन संस्थान में सतत होता रहा है जिससे छात्रों को मल्टीनेशनल कंपनी में करियर बनाने का अवसर मिलता रहेगा। उन्होंने ने कहा कि आने वाला समय कंप्यूटर विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी का है और मशीन लर्निंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डेटा साइंस कंप्यूटर साइंस के वो महत्वपूर्ण संसाधन हैं जिनकी आने वाले समय में अत्यधिक आवश्यकता हैं। इन्ही संसाधनों में आज के समय में लाखों नौकरियों के अवसर है तो छात्रों को इस कार्यशाला से अधिक से अधिक ज्ञान अर्जित कर उसका फायदा लेना चाहिए।

               कार्यशाला के प्रथम दिवस समाप्त होने के उपरान्त कॉलेज के निदेशक डॉ0 एस0एन0 चौहान तथा डीन डॉ0 सुचित्रा त्यागी द्वारा संयुक्त रूप से मुख्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह् भेंट किया गया।

               कार्यशाला के अन्त में कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजी0 के विभागाध्यक्ष आशीष चौहान ने मुख्य अतिथियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि संस्थान भविष्य में आपके साथ सामन्जस्य बनाकर कार्य करता रहेगा जिससे छात्र को आगे बढ़ने के अवसर प्राप्त होंगे।

               कार्यशाला का सफल संचालन प्रोफेसर शुभि वर्मा ने किया। इस कार्यशाला को सफल बनाने के लिए प्रो0 रुचि राय, व्योम शर्मा, अतुल कुमार वर्मा, अंकुर कौशिक, मयूर शर्मा, शुभी वर्मा, वेनी भारद्वाज व अन्य सभी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *