संवाददाता : कुमार विवेक, नमस्कार भारत

पिछले साल हमास ने सात अक्तूबर को दक्षिण इस्राइल पर बड़ा  हमला किया था। एक साथ कई मिसाइलों को दागा गया था। साथ ही जमीन से हमला भी किया गया था। आतंकवादियों ने 1200 इस्राइली नागरिकों को मार कर  हत्या कर दी थी।

इस्राइल और हमास के बीच पांच महीने से अधिक समय से युद्ध हो रही  है। सात अक्तूबर को आतंकियों ने इस्राइल पर हमला कर  सैकड़ों लोगों को बंदी बना लिया था। इसके बाद, इस्राइल ने अपने नागरिकों के जान की रक्षा करने के लिए जवाबी कार्रवाई और समझौता कर अपने कुछ लोगों को रिहा करा लिया था। अब एक बार फिर जंग रुकने की थोड़ी उम्मीद है। अमेरिकी  राष्ट्रपति जो   बाइडन ने उम्मीद जताई है कि अगले सोमवार तक इस्राइल और हमास के बीच युद्धविराम हो जाएगा। उन्होंने माना है कि दो पक्ष संघर्ष विराम समझौते के लगभग करीब हैं।

जो बाइडन ने बताया कि गाजा में संघर्ष विराम के सवाल पर ,मेरे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने मुझसे कहा है कि हम इसके करीब हैं और मेरी उम्मीद है कि अगले सोमवार तक हम सीजफायर कर लेंगे।’ साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम इसके काफी  नजदीक हैं, लेकिन यह अभी तक पूरा नहीं हुआ है। अभी इस पर फाइनल मुहर लगना बाकी है।

बंधकों को रिहा करेगा हमास

गौरतलब है, इससे एक दिन पहले ही व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने बताया था कि, ‘इस्राइल, अमेरिका, मिस्र और कतर के प्रतिनिधियों ने पेरिस में मुलाकात की। इस दौरान अस्थायी संघर्षविराम के बदले हमास द्वारा बनाए गए बंधकों को रिहा करने पर चारों के बीच सहमति बन गई है।’

पेरिस में हुआ बातचीत

मोसाद के निदेशक डेविड बार्निया सहित एक इस्राइली प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को पेरिस में सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए) के निदेशक बिल बर्न्स, कतर और मिस्र  के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की। कथित तौर पर, इस्राइल और हमास एक दूसरे से सीधे बात नहीं करते हैं, इन दोनों के बीच  मिस्र और कतर मध्यस्थता निभाते हैं। बताया जा रहा है कि पेरिस में हुई बातचीत के बारे में हमास को रविवार शाम को जानकारी दी गई थी।

पिछले साल अक्टूबर से शुरू है युद्ध

 गौरतबल है की बीते साल की आखिरी में युद्ध की शुरुआत हुई जिसमे करीब 1200 लोगो के आस – पास हत्या हुई। इसके अलावा, 250 लोगों को बंधक भी बना लिया था। जिनमें से आधे अभी भी हमास के जेलों में हैं। वहीं, इस्राइली सेना ने गाजा के बड़े हिस्से को निस्तानाबूत कर दिया है। करीब 24 हजार फलस्तीनी लोग मारे जा चुके हैं। इस्राइल के हमला के बाद से गाजा की 23 लाख की आबादी में 85 फीसदी लोग अपने घरों से पलायन कर दूसरे शहर में विस्थापित हो चुके हैं।  हमास और  इस्राइल के बीच युद्ध में करीब एक चौथाई आबादी को भुखमरी का सामना करना पड़ रहा  है। और कब तक युद्ध समाप्त होगी बस कयास ही लगाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *